20 /30  साल की उम्र में बाल झड़ना और उसपर उपाय

बाल झड़ने की समस्या लोगों को विभिन्न उम्र में विभिन्न कारणों से होती है|इन्सान के शरीर का बाल यह एक पेचिंदा हिस्सा है|हेयर फॉलिकल बहुत मजबूत होते हैं और किसी भी प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना कर सकते हैं|लेकिन वे जीवनशैली और बर्ताव के कारण हुए बदलाव के प्रति संवेदनशील होते हैं| बाल झड़ने के,अनुवंशिकता, हार्मोन में असंतुलन,कुपोषण, थायरॉईड की बीमारियां, शारीरिक और मानसिक तनाव, वजन घटना,अनुचित आहार,अनुचित बालों की आदतें, बीमारी,वैदकीय स्थिति, और कॉस्मेटिक प्रक्रिया भी जैसे ब्लीचिंग,पर्मिंग, आदि ऐसे कारण हैं| इसमें एक से जादा घटक भी आपके बाल पतले होने के जिम्मेदार हो सकते हैं|

काफी लोग सोचते हैं कि,बाल झड़ने का नतीजा सिर्फ बुजुर्ग वयस्क आदमी और थोड़ी मात्रा में औरतों को भुगतना पड़ता है|और कुछ हद तक यह सच भी है|जैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती जाती है वैसे वैसे आपके नए बाल उगने की मात्रा [रफ्तार] कम होती है|लेकिन बाल झड़ने की समस्या स्त्री या पुरुषों को किसी भी उम्र में हो सकती है|

बालों के सम्बन्ध में  जैसे बाल झड़ना और पतले होना इन समस्या का किशोर उम्र के लड़कों पर भी परिणाम हो सकता है|बीस साल के या तीस साल के उम्र में बाल झड़ना यह एकदम आम बात है|बाल झड़ने की समस्या बहुत ही नैराश्यपूर्ण होती है और वह आपको बुढा दिखाई देने में मजबूर करती है|

वैज्ञानिकों के हिसाब से करीब करीब 40 % पुरुषों के 35 साल की उम्र में अक्सर बाल झड़ते है, और 40 % स्त्रियों के 40 साल की उम्र गुजर जाने तक काफी बाल झड़ते हैं|

इस उम्र में बाल झड़ने का मुख्य कारण है, काम के तनाव पूर्ण स्थिति में स्वास्थ्य विरहित दिनचर्या ,जिसमें  असमय आहार की दिनचर्या आती है| लोग नाश्ता करना टाल देते है, या बहुत जादा खाते हैं,और दो वक्त के खाने में बहुत सारा समय बिता देते हैं|इस भागदौड के जीवन में आप आपके कैलरी, और उचित प्रोटीन, और पोषक चीजें इनका सेवन करने की खबरदारी नहीं लेते|उपर से,पूरी तरह नींद न मिलना, रोजाना व्यायाम की कमी,धूम्रपान, हार्मोन्स में असंतुलन [जैसे पी.सी.ओ.डी. या थायरोइड] इन सब के पीछे काम की चिंता यही एक कारण है|आजकल के ज़माने में जवान लड़कियों पर गृहस्थी और नोकरी या व्यवसाय संभालने का असीम तनाव होता है| विभिन्न सलोन में भी  चिकित्सा करते वक्त  बालों के मूल बॉण्ड बिगाड़ कर बालों का नुकसान करते हैं|इन सब आदतों से या इनमें से कुछ आदतों से बाल गिरते हैं|आप बालों पर रसायनों का इस्तेमाल करने से दूर रहे|और बार बार हेयरस्टायलिंग करना छोड दिजीये| इनकी वजह से आपके बालों के डंठल की हानि होती है और परिणामस्वरूप बाल झड़ने लगते हैं|

बालों के सेहत के लिए उचित आहार लीजिये ,जिसमें कम से कम दो हिस्सा प्रोटीन,दो रंगीन  फल, या सलाद, और दो या तीन सम्पूर्ण अखरोट होने चाहिए| प्रोटीन की आपूर्ति के लिए आप अंकुरित धान,पनीर अन्डे का सफ़ेद हिस्सा,योगर्ट,[दही]आदि ले सकती हैं|सलाद में आप अनार, बेर जैसे छोटे फल जिन्हें बेरी कहते हैं और चेरी नाम के फल,गाजर,हरी सब्जी आदि का सेवन

कर सकते हैं|नियमित आहार के साथ आप किसी न किसी क़िस्म का व्यायाम भी करेंगे इसका यकीन करें| छ: से सात घंटे बिलकुल शांत निद्रा लीजिये|शाम्पू और कंडीशनर इनका बालों के सेहत पर बहुत असर होता है|हो सके तो ऐसे शाम्पू और कंडीशनर इस्तेमाल करें जिसमें रसायनों की कमी हो या बिलकुल नहीं हो और जो आपके बालों को सुयोग्य हो|बालों की जो चिकित्सा बालों के सेहत को बढ़ावा देगी, जिससे बाल और स्काल्प दोनों शक्तिमान हो ऐसी चिकित्सा करवा ले|ऐसी चिकित्सा से बालों के मूल और फॉलिकल सशक्त बनाते हैं और रोजाना तनाव से होनेवाली बालों की हानी कम करते हैं|

आपकी हेयर स्टाईल सीधी और सादी होनी चाहिए|कौनसा भी हेयर बंद कसके न बांधना और क्लिप का इस्तेमाल नहीं करना| और कंघी करने से पहले और बाल धोने के बाद हेयर सीरम का इस्तेमाल करना | एअर वॅक्स, मूस, हेयर जेल आदि का इस्तेमाल करने से दूर रहें|

और बालों को इस्त्री करना, बाल सीधे करना,और खिजाब या रंग लगाना हो सके तो टाल दें|यह सब विशेष रूप से टालना चाहिए अगर आपको पहले से ही बालों के स्वास्थ्य के बारे में समस्या हो तो| सबसे पहले आप बाल और स्काल्प को स्वास्थ्य पूर्ण बनाइये ,फिर वे किसी भी हानि को प्रतिरोध कर सकें|बालों को मोड़ने के लिए आपके ब्लो ड्रायर से एअर ड्राईंग करें या उसपर कोल्ड मोड़ का इस्तेमाल करें|अगर आपको रुसी होगी तो जल्दी से अच्छे अँटी-डॅन्डरफ शाम्पू से उसके ऊपर उपचार करें| बाल धोने के पहले स्काल्प पर अँटी-डॅन्डरफ शाम्पू  कम से कम 5 मिनट तक रखें| हफ्ते में दो से तीन बार यह बाल धोना करना चाहिए और उन्हें अच्छे से कंडीशन करना भी ध्यान में रखें| अगर आप बालों को रंग करना चाहते हो या सलोन उपचार करने जा रहे हो तो ऍसिडिक पी.एच वाले शाम्पू और कंडीशनर का इस्तेमाल करें|ये शाम्पू बालों के क्युटीकल अच्छे तरीके से संभल कर रखते हैं और कम हानी पहुंचाते हैं| अगर आपको हद से ज्यादा बालों का गिरना दिख रहा हो तो आप उसपर इलाज करें और बालों की निगरानी रखें| जल्दी किये हुए उपचार सबसे बढ़िया काम करते हैं|