सेलिब्रिटीज द्वारा पलकों की सर्जरी करवा लेने के  कारन |

 

आँखें बहुत कुछ कहती हैं | इंसान का व्यक्तित्व उसकी आँखों में प्रतिबिंबित होता हैं | आँखें आपकी  सेहत, सनक और भावनिक दृष्टिकोण के बारे में हकीकत बताती हैं | अतः सेलिब्रिटीज जिस प्रकार की जिंदगी बसर करते  हैं, उसके लिए उनकी आँखें ज्यादा तेजस्वी, नर्गिसी और उत्साहित करना जरुरी होता हैं | और पलकों की सर्जरी करवा लेने की लिए अधिक पसंदगी देने का शायद यही कारन हो सकता हैं |

पलकों की सर्जरी :-

जैसे जैसे उम्र गुजर जाती हैं, हममें से बहुत से लोगों को ढेर सारे बदलावों से गुजरना पड़ता हैं|और वे उस से जागृत हो जाते हैं | त्वचा पर झुर्रियां आ जाती हैं और धीरे धीरे उसका लचीलापन काम होने लगता हैं | लचीलापन की कमी से और अतिरिक्त गुरुत्व के खिंचाव के कारन त्वचा पलकों के ऊपरी और नीचे की हिस्से में जमा होती हैं | निचली पलक के ऊपर ये अतिरिक्त त्वचा झुर्रियां और गुब्बारे निर्माण कराती हैं | कई लोगों को उपर की पलकों पर अतिरिक्त परत लटकने की वजह से कोई और समस्याएं पैदा होती हैं | पलकों की सर्जरी ये सारी समस्याओं का हल करके एक फिरसे जवान रूप देने में सहाय करती हैं |

 

पलकों की सर्जरी आँखों की सूजन, गिरी हुई पलकें और गुब्बारों की समस्याओं का हल कराती हैं | बहुत सारे मामलों में सर्जरी सुंदरता बढ़ाने के लिए की जाती हैं | यद्यपि  ये आँखों के नीचे के काले दायरे, बाजू में मोर के पैरों जैसे निशान या उम्र के बाकी निशान निकालने के काबिल नहीं होते | चूँकि सेलिब्रिटीज इन बदलाव के बारे में ज्यादा ही जागरूक और बेताब होते हैं, इसलिए वे चेहरे के पुनर्गठन में, जैसे लेसर पुनर्गठन, स्किन पील और फेस लिफ्ट के साथ साथ पलकों की सर्जरी को भी चुनते हैं|

 

पलकों की सर्जरी की प्रक्रिया:-

* सर्जन हमेशा दोनों पलकों की सर्जरी एक साथ करते हैं | और शुरुआत उपर के पलक से होती है | पलकों की प्राकृतिक रेखाओं के अनुसार छेद दिए जाते हैं जिनसे अंदर की जमा हुई चरबी और पेशियाँ निकली जाती हैं | बाद में छेदों को छोटे टांको के जरिये सिलाये जाते हैं | ये टांके छह दिन के बाद निकाले जाते हैं |

* नीचे के पलकों पर टांको की सिलाई की जरूरत नहीं होती क्योंकि सर्जन पलकों के भीतर छेद देकर चरबी निकाल देते हैं|इस वजह से ज़ख्म दिखाई नहीं देती |

* सर्जन पलकों के किनारों पर भी छेद दे सकते हैं | इन छेदों से सर्जन अतिरिक्त त्वचा, ढीले स्नायु, और चरबी निकाल देते हैं | ये छेद समय के साथ फीके पड़ जाते हैं | त्वचा के बारीक रेखाओं को कम करने के लिए अर्बियम लेसर का इस्तेमाल किया जाता हैं |

सेलिब्रिटीज के पलक की  सर्जरी करवा लेने के कारन :-

१] आँखें सब कुछ कहती हैं |:- आँखें अपनी आत्मा की खिड़की होते हैं | सेलिब्रिटीज को अतुल्य खूबसूरत और दिलचस्प बनाने के लिए इसकी आवश्यकता होती हैं | इसलिए जो कोई अपना रूप निखारना चाहता हैं और हमेशा आकर्षक दिखना चाहता हैं, पलकों की सर्जरी उनके लिए सच में मददगार होती हैं | सर्जन ये सावधानी बरतते हैं की आंखों पर पलके न झुके और वे लुढकने की शुरुआत न हो |

* अब के बार बूढ़ा या थका मंदा दिखना नहीं |: –

आँखों के इर्द गिर्द अतिरिक्त पेशियाँ, त्वचा, परत, लपेटें और झुर्रियां आती हैं तो कोई भी बूढ़ा, थका हुआ और मरियल लगता है | मगर सेलिब्रिटीज कभी भी नहीं चाहते की वे ऐसा दिखें | और तो और, उन्हें स्फ़ुर्तीले और जवान दिखने की जरूरत होती हैं | पलकों की  सर्जरी उन्हें ये पाने में मदद करती हैं |

* परिणाम दूरगामी और आजीवन रहते हैं |: –

इसी बात के लिए सेलिब्रिटीज तरसते हैं | ऐसी बात जो उनकी जवानी आजीवन बनाये रखें|पलक सर्जरी से  मिले हुए नतीजे ज्यादातर कायम रहते हैं | फिर भी यह बात स्पष्ट हैं की यह सर्जरी आपकी उम्र को नहीं रोक सकती | हालाँकि वे निश्चित रूप से आपको अपनी उम्र से कहीं ज्यादा जवान बनाएंगे |

 

एक बढ़िया पलक सर्जरी या पलक उत्थान ये बहुत ही मुश्किल काम हैं, इसलिए इस काम में कुशल और जिसे कठोर तजुरबा हो ऐसे सर्जन को चुनना जरुरी हैं, जो प्राकृतिक दिखाई देने वाली पलक  सर्जरी करता हो और साथ में इसमें कोई बड़ी भूल न हो |