पहली रोबोटिक फोलिक्यूलर हार्वेस्टिंग प्रणाली

ARTAS रोबोटिक प्रणाली ये सबसे पहली और केवल यही जिस में प्रतिमा से मार्गदर्शन करने वाले प्रणाली का इस्तेमाल किया जाता है | ये प्रणाली ARTAS रोबोटिक प्रणाली नाम से विख्यात है |  डॉक्टर के निगरानी में ये प्रणाली एक सत्र में फोलिक्यूलर यूनिट का विछेदन बिना किसी गलती के हजार बार कर सकती है | यह स्वयंप्रेरीत नियंत्रण और इंटेलिजेंट अलगोरीदम केशारोपण के लिए ज्यादा से ज्यादा टिकाऊ और उपजाऊ बालों को चुनते है | इस में दो अवस्थाओं की विच्छेदन प्रणाली अन्तर्भूत है, जो रुग्ण के डोनर क्षेत्र का स्वरूप ज्यादा से ज्यादा कुदरती रख के बालों की हार्वेस्टिंग करती है | ARTAS रोबोटिक प्रणाली हर एक प्रक्रिया के दरमियान बढ़िया नतीजे प्राप्त कर देती है और सर्जन की कुशलता को बनाए रखती है |

रोबोटिक प्रणाली का इतिहास

ऐंड्रोजेनिक आलोपेशीया या पुरुष नमूना गंजापन (male pattern baldness) के इलाज के लिए ARTAS प्रणाली यह रोबोटिक सर्जिकल केशारोपण प्रणाली है | पुरुषों के फॉलिक्युलर यूनिट हारवेस्टिंग करने के लिए इस उपकरण का इस्तेमाल करने के लिए FDA ने सन २०११ में फले दफा अनुमति दी | फॉलिक्युलर यूनिट एक्सट्रैक्शन तंत्र का इस्तेमाल कर के ARTAS प्रणाली की संरचना बालों की पुनर्स्थापना करना सुविधा जनक हो ऐसी की गयी है | रिस्टोरेशन रोबोटिक्स जो निजी वैद्यकीय चमत्कार है, इसने ARTAS प्रणाली विकसित करके सान २००२ में संस्थापित की | सन २००८ में इंटरनैशनल सोसायटी ऑफ हेयर रिस्टोरेशन सर्जन के वार्षिक सम्मेलन में ARTAS का परिचय करा दिया गया, बाद में क्लिनिकल प्रतिवेदन तैयार होने लगे और प्रणाली को पुष्टि मिलने लगी | साल भर की कई चंद केसेस में से पहली रोबोटिक प्रक्रिया जिस में ARTAS का इस्तेमाल किया गया, वह वर्ष २०११ के अंत में की गयी | सन २०१४ तक केशारोपण के १२ प्रतिशत और FUE केशारोपण की २६ प्रतिशत सर्जरी स्वयं चलित उपकरण के जरिये की गयी | इस वजह से दुनिया भर में रोबोटिक उपकरणों के इस्तेमाल करने में तेजी से वृद्धि हुई | रोबोटिक तंत्रज्ञान का इस्तेमाल अन्तर्भूत होने के ५ वर्ष में इस तंत्रज्ञान में बहुत तरक्की हुई है | नयी प्रणाली का इस्तेमाल करना बहुत आसान है |

फिर भी जब FUE की प्रक्रिया हाथों के जरिये की जाती है, तब बाल हार्वेस्टिंग के काल में, फॉलिक्युलर यूनिट चुनने की असमर्थता की वजह से रोबोटिक प्रणाली को महत्वपूर्ण बंधन पड़ता है|जब फॉलिक्युलर यूनिट के निकाल ने का हाथों के जरिये कार्य साध्य हो जाता है,तो सर्जन बड़े फॉलिक्युलर यूनिट देखकर उनको चुनते हैं,ताकि ज्यादा से ज्यादा बाल कम से कम रिसिपन्ट जख्मों में रोपण किये जाते हैं| मगर रोबोटिक प्रणाली में फॉलिक्युलर यूनिट बेहिसाब चुने जाते हैं,जिससे बालों की संख्या का कोई संबंध नहीं रहता| [वह अपने आप बालों की संख्या के अनुसार फॉलिक्युलर यूनिट चुनता है|    * this sentence is contradictory to previous sentence hence omitted]

ARATS रोबोटिक हार्वेस्टिंग के फायदे 

  • हार्वेस्टिंग के लिए स्वस्थ बालों को चुनने में मदद करती है|
  • हर एक बाल का विश्लेषण और निगरानी करने में मदद करती हैं|
  • पाये हुए ग्राफ्ट मजबूत होते हैं और पहला और हजारवाँ ग्राफ्ट एक जैसा [एक ही दर्जे का ] होता है, कारण रोबोट कभी भी थक नहीं जाता|
  • हाथों के जरिये किए गए हेयर ग्राफ्ट हार्वेस्टिंग से, जो गलतियों का संभव है वह इस प्रगत प्रणाली की वजह से ताली जाती है| इससे सम्पूर्ण प्रक्रिया के दरमियान एक जैसे हेयर ग्राफ्ट पाने में सहाय होता है|
  • रोबोटिक प्रणाली तेज गति, हु-ब-हु और पुनरुत्पादन क्षमता के लिए साहाय्यभूत होती है|
  • ठीक होने का काल और समय की बरबादी कम कर देती है|

 प्रक्रिया   

ARATS प्रणाली फॉलिक्युलर यूनिट एक्स्ट्राक्षण का तंत्र इस्तेमाल करती है|हेयर फॉलिकल

अधिक स्पष्ट रूप से दिखाई देने के लिए पहले स्काल्प के पिछले बाजी के डोनर और रिसिपन्ट क्षेत्र के बाल निकले जाते हैं|प्रक्रिया शुरू होने के पहले स्काल्प के ऊपर लोकल भूल दी जाती है|रुग्ण को  आधा बैठे हुए स्थिति में रखा जाता है|और स्काल्प पर स्किन टेंशनर लगाया जाता है|जिससे गहरे विच्छेदन की अचूकता बढ़ जाती है|

रुग्ण के डोनर क्षेत्र के विडियो चित्रण के लिए बहुत सारे कॅमेरे लगाए जाते हैं|ARTAS प्रणाली के प्रतिमा विश्लेषण सॉफ्टवेअर अलगोरीदम की सहायता से फोलिक्यूलर यूनिट के विभिन्न अंग जैसे,कोने ,संरेखण और घनता इनकी जानकारी ली जाती है|इस जानकारी को उपयोग में लाकर रोबोट की भुजाएँ फोलिक्यूलर यूनिट का विच्छेदन करने के लिए आयोजन बद्ध तरीके से त्वचा पर छोटे सुराख़ बनाते हैं|कॅमेरे हेयर फोलिकल्स का अनुवेध [निशाना] लेने में मदद करते हैं|सर्जन अपेक्षित विच्छेदन जुटाने के लिए बार बार विशिष्ट प्रकार का मेल और समायोजन करते हैं|उसके बाद रुग्ण के रिसिपन्ट क्षेत्र पर फोलिक्यूलर यूनिट का रोपण किया जाता है|

जो रुग्ण स्ट्रिप हार्वेस्टिंग प्रक्रिया से गुजरते हैं उनकी अपेक्षा  ARTAS प्रणाली के सहायता से FUE प्रक्रिया से गुजरने वाले रुग्ण सामान्य  रूप से 2 दिनों में कामकाज शुरू कर सकते हैं| मात्र एक बात यह है कि जिस रुग्ण के बाल काले और सीधे होते हैं,वो ही यह प्रक्रिया कराकर ले सकते हैं|जिन रुग्ण के डोनर क्षेत्र में सीमित बालों कि संख्या है वे इस प्रक्रिया के लिए लायक उम्मीदवार नहीं समझे जाते |इस तरह सफल रोबोटिक ग्राफ्ट को चुनना टीम के अति सूक्ष्म विच्छेदन कि उच्च स्तर कि प्रतिबद्धता और कुशलता जो इतने सालों से डोनर स्ट्रिप विच्छेदन करके उसमें अद्यतन दर्जा लाया है ,इनपर निर्भर रहता है| इसलिए सफल प्रक्रिया करवाने के लिए अनुभवी कुशल और अच्छे प्रशिक्षित सर्जन को चुनना|