व्हेरिकोज व्हेन्स पर घरेलू इलाज

जब नीली नसें हद से जादा बड़ी हो जाती हैं और उसमें खून जमा हो जाता है, तो ऐसी बीमारी को व्हेरिकोज व्हेन्स की बीमारी कहते हैं|धमनियाँ ऑक्सिजन से भरा खून हृदय से बदन के सारे अवयवों के पास ले जाती है और सारे अवयव खून में से ऑक्सिजन, उनके कार्य की जरूरतों के लिए इस्तेमाल करके, खून और बाकी कचरा [ जैसे कार्बन डाय ऑक्साईड] नसों में छोड़ देते हैं|उसके बाद नसों का खून ह्रदय के पास फिर से लाया  जाता है और उसके बाद फेफड़ों में लाया जाता है, जहाँ कचरा और कार्बन डाय ऑक्साईड निकाल दिया जाता है और जादा ऑक्सिजन खून में छोड़ा जाता है| और फिर से धमनियों से बाकी बदन को दिया जाता है|  जब नसें सही तरीके से काम नहीं कर सकती, तब व्हेरिकोज व्हेन्स की बीमारी होती है| और नसें खून से   उभाडती है और सुजन की वजह से बाहर आयी हुई दिखाई देती है| इस बीमारी में नसें नीली या बैंगनी या लाल रंग की दिखाई देती है|और अक्सर वे दुखती हैं|दूसरा लक्षण बेचैनी, झुनझुनी सी होना, धड़कन बढ़ना, पैरों में जलन, या बोझिल होना, थकान महसूस होना आदि| ये बीमारी वैसे साधारण बीमारी है और जादा तर महिलाओं में पायी जाती है|हालाँकि सिर्फ सर्जरी से ही इसपर इलाज हो सकता है, फिर भी आप इसकी लक्षणों से छुटकारा पाने के लिए कुछ अलग इलाज भी कर सकते हैं|चलो, हम आपको व्हेरिकोज व्हेन्स पर उपचारों में मदद करने वाले ऍपल सायडर व्हिनेगर के महान फायदों के बारे में बात करें|

ऍपल सायडर व्हिनेगर, व्हेरिकोज व्हेन्स पर इलाज कर सकता है| क्योंकि उसमें ऐसे बहुत आवश्यक घटक हैं जो आपकी मदद कर सकते हैं|उसमें आपके शरीर के रोजाना कार्य के जरूरतों के लिए लगने वाले महत्वपूर्ण विटामिन्स[A,B,और C], अमिनो ऍसिड, कुछ एन्जाइम्स, खनिज पदार्थ, ऍसिटिक ऍसिड आदि हैं| ये सब खून से दूषित चीजे निकालकर शरीर साफ़ बनाते हैं; और नसों से खून सुचारु रूप से बहता है|जब खून का बहना सुचारु रुपसे शुरू होता है तब नसों का बोझिल पन और सुजन और उभाडना बंद होता है|इसमें सुजन प्रतिबंधक घटक होने के नाते ये दर्द को बड़े पैमाने से कम करता है| यह बीमारी के लक्षण कम करने के लिए पैरों की त्वचा को ताकत देता है|

तो चलो शुरू करें|पहले आप को एक साफ सुथरा और नरम कपड़ा लगेगा|आप बँडेज का कपडा या मलमल का  कपडा और जाहीर है ऍपल  सायडर व्हिनेगर इस्तेमाल कर सकते हैं |अब इलाज के लिए ऍपल  सायडर व्हिनेगर के बँडेज बनाने की रीत सीखें|इसके लिए बँडेज कपड़ा या मलमल, ऍपल  सायडर व्हिनेगर के द्राव में भिगोना और बाधित क्षेत्र पर रखना | आप समतल सतह पर सो जाइये जिससे खून शरीर से  नीचे की और जा ना पाए| आप टखने के निचे एक दो तकिये भी लगा सकते है|आधा घंटा बँडेज वैसा ही रखो और बाद में धीरे से निकालो|बाद में पानी से धो डालो| ऐसा दिन में दो बार करना है और आपको निश्चित रूप से सुधार दिखाई देगा|यह बाधित क्षेत्र पर करने से पहले आप पॅच टेस्ट करवा कर यकीन कर ले|क्योंकि ऍपल  सायडर व्हिनेगर आम्लधर्मी होने से और विशेषकर जब आपकी त्वचा नाजुक और संवेदनशील हो तो इससे शायद आपको चकत्ते आने  का डर हो सकता है|

आप दूसरी तरह से भी कोशिश कर सकते हैं| कच्चा और बिना छाने हुए ऍपल  सायडर व्हिनेगर दो चम्मच और एक टेबल स्पून सादा पानी [कार्बोनेटेड नहीं] एक करना| अच्छी तरह से घोलना| यह द्राव दिन में दो बारपीना| आप नास्ते के बाद और रात को सोने से पहले यह मिश्रण पी सकते हैं|यह रोज पीने से यक़ीनन आप के व्हेरिकोज व्हेन्स ठीक होने में मदद हो सकती है| ऍपल  सायडर व्हिनेगर के इस्तेमाल के कुछ ऐसे भी तरीके हैं, जिसमें आप मास्क बनाकर या भिगोकर इस्तेमाल कर सकते हैं|लेकिन उपर्निर्दिष्ट तरीका आपको उत्कृष्ट नतीजा दे सकते हैं|

व्हेरिकोज व्हेन्स कहीं भी नजर आ सकती हैं लेकिन ज्यादातर वे पैरों के निचले हिस्से में और जंघा पर दिखाई देते है|  अगर वे बड़ी बन जाती हैं तो त्वचा पर दिखाई देती हैं और हाथ से महसूस भी हो सकती हैं|लेकिन कुछ छोटी व्हेरिकोज व्हेन्स होती हैं जिन्हें स्पायडर व्हेन्स किंवा तेलन्गीक्टासियास ऐसा कहते हैं| वे छोटी रेखाएं जैसी या मकड़ी के जाल जैसे दिखती हैं| लेकिन स्पर्श करने से हाथ को लगती नहीं| वे सामान्य रूप से पैरों पर होती हैं लेकिन चेहरे पर भी दिखाई देती हैं|व्हेरिकोज व्हेन्स बहुत समय तक खड़े रहकर काम करना या बैठना, मोटापन या स्थूलकाय, उम्र, अनुवंशिकता गर्भावस्था ,हार्मोन्स में बदलाव कुछ दवाइयां, आहार की कमी, अयोग्य जीवनशैली की आदत इन सबसे होती हैं|यद्यपि यह अवस्था सेहत के लिए घबराहट की बात नहीं है, फिर भी यह आपका जीवन अस्वस्थ और भागदौड का बना सकता है| घरेलू उपचार सही होते हैं| एकबार कोशिश करके देखें और आपकी क्या राय है हमें बताइये|